घर के छत से मोटी कमाई

0
1980

अगर आपके पास भी खुली छत या फिर खुला आंगन है तो आप भी इससे पार्ट टाइम में लाखों रुपए कमा सकते हैं यह व्यवस्था है महिलाओं के लिए काफी अच्छी है जो घर में रहकर के इस प्रयोग से लाखों रुपए की करनी हर महीने काफी आसानी से कर सकती हैं चलिए जानते हैं कैसे होता है

इस तकनीक को हाइड्रोफोबिक खेती कहा जाता है ये पध्हती इसराइल में डिवेलप की गई थी इस पद्धति में आपको मिटटी की जरूरत नहीं पड़ती और इससे दुख सब्जियां होती हैं उसकी भी गुणवत्ता काफी अच्छी होती है और सब्जियां पोषण से भरपूर होती है इस वजह से बाजार में इसका अच्छा मूल्य मिलता है

हाइड्रोपोनिक खेती करने के लिए आपको मिट्टी की जरूरत नहीं पड़ती इसके लिए जरूरत पड़ती है तो कुछ ऑर्गेनिक प्रोडक्ट की और नारियल के बीच की यानी नारियल का बुरादा यह वाला नारियल से नहीं बल्कि नारियल के छिलके यानी जटाओं से बनता है इस में नमी को रोके रखने की काफी अच्छी क्षमता होती है जिससे बीच से पौधे काफी आसानी से निकलते हैं

जब इन छोटे गमलों में से पौधे निकलने लगते हैं तो इन दोनों को एक विशेष तरीके के पाइप में डाला जाता है जहां पर पोषण युक्त पानी लगातार बहता रहता है और यह पौधों को पोषक तत्व की सप्लाई करता रहता है और पौधे बड़े होते हैं

इस पूरी प्रक्रिया में मिट्टी का कहीं पर भी कोई इस्तेमाल नहीं होता इस खेती को करने वालों ने हमें बताया मिट्टी के साथ सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि हर तरह की मिट्टी अलग-अलग पोषक तत्वों वाली होती है तो उसमें एक समान पोषक तत्व वाली सब्जियों को उगाना काफी मुश्किल होता है परंतु हाइड्रोपोनिक खेती में जिस सब्जी के लिए जिस तरीके के पोषक तत्वों की जरूरत है उसका इस्तेमाल करके बहुत ही उच्च क्वालिटी की सब्जी उगाई जाती है

खेती करने वालों ने यह भी बताया कि माननीय अगर आपको धनिया की खेती करनी है तो 1 साल में आप सिर्फ तीन बार खेती कर सकते हैं क्योंकि अत्यधिक गर्मी और बरसात के मौसम में मिट्टी का अधिक गीला होने की वजह से धनिया की फसल अच्छी नहीं निकलती लेकिन हाइड्रोपोनिक खेती में ऐसा नहीं होता है आप 12 महीने धनिया की फसल को उगा सकते हैं क्योंकि इसमें मिट्टी की जरूरत नहीं होती बल्कि सीधे पानी के साथ द्वारा हम पोषक तत्व पौधों तक पहुंचाते हैं जिसके फलस्वरूप हर चीजें हमारे कंट्रोल में रहती है और एक उच्च गुणवत्ता की फसल 12 महीने हमें मिलती है साथ ही साथ यह भी बताया गया कि हाइड्रो को भी खेती ट्रेडिशनल खेती की तुलना में काफी ज्यादा सस्ती और स्वच्छ होती है क्योंकि हाइड्रोपोनिक खेती में कीड़े लगने का खतरा बहुत ही कम हो जाता है क्योंकि यहां पर मिट्टी का संपर्क बिल्कुल नहीं होता और एक पानी का इस्तेमाल महीनों तक किया जाता है

हाइड्रोफोबिक से कमाई की बात की जाए तो पहले स्तर में आपके घर में सब्जियों का खर्चा सौदा ही 3 से ₹4000 कम हो जाएगा दूसरे चरण में आप सब्जियों के उत्पादन को और ज्यादा बढ़ा सकते हैं और इसे अपने लोकल मार्केट में या तो फिर डायरेक्ट ग्राहकों के घर तक डिलीवर कर सकते हैं क्योंकि यह सब्जियां स्वाद में ज्यादा बेहतर ताजी और काफी ज्यादा पौष्टिक तत्वों से भरी होती हैं इसलिए इन सब्जियों को ऑर्गेनिक सब्जी के श्रेणी में रखा जाता है और यह सब्जी मार्केट में नॉर्मल सभी से अपेक्षा थोड़ी अधिक रेट पर बिकती है और इसकी डिमांड भी काफी ज्यादा है इस तरीके से अगर आपके पास 200 से ढाई सौ स्क्वायर फीट की जगह है तो वहां पर आप 5 से 10 तरीके की सब्जियों की खेती बहुत ही आसानी से कर सकते हैं जिसको करने से आपको हर महीने 50000 से ₹100000 तक का मुनाफा हो सकता है यह बातें कई चीजों पर डिपेंड करती है जिसमें से सबसे बड़ा कारण आपकी मार्केटिंग तकनीक का है क्योंकि इस सब्जी की डिमांड बाजार में बहुत ज्यादा है इसलिए इसके मार्केटिंग पर भी ज्यादा पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं होती है लेकिन अगर आप चाहें तो ऐसे लोगों को अपने नेटवर्क में शामिल कर सकती हैं या अपना ग्राहक बना सकती हैं जो स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहते हैं और अच्छे खाने के शौकीन होते हैं या ऐसे लोग जिन्हें अच्छे खाने की जरूरत है यानी कि कोविड-19 या तो फिर किसी भी तरीके की बीमारी से ग्रसित आदमी जिन्हें मिलावटी खाना खाने से दिक्कत हो एक बार अगर आपका व्यवसाय जम गया तो आप इसे 200000 से ₹400000 तक आसानी से इसके कर सकती हैं क्योंकि पद्धति सेम है बाजार से हैं जरूरत है तो सिर्फ इसे बढ़ाने की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here