महिलाओं को पता होना चाहिए प्रेग्नेंसी में क्या खाएं और क्या ना खाएं

0
975

जिंदगी में मां बनना हर महिला का सपना होता है और दुनिया की सबसे बड़ी खुशी भी हर महिला के लिए यही होती है। कई बार देखा गया है प्रेग्नेंसी के दौरान कुछ महिलाएं अपने घर और ऑफिस के कामों में इतनी व्यस्त रहती हैं कि खुद के ऊपर और अपनी डाइट का ध्यान नहीं देती है

गर्भावस्था के दौरान पूरे 9 महीने बेहद ही नाजुक समय मन जाता है। इस दौरान अपना ख्याल नहीं रखेंगी तो कभी भी, कोई भी शारीरिक समस्या हो सकती है। विशेषज्ञों के अनुसार, एक गर्भवती महिला को शुरुआती तीन महीने और आखिरी तीन महीने अपने खानपान का खास ख्याल रखना चाहिए, क्योंकि प्रेग्नेंसी के ये दोनों ही ट्राइमेस्टर शिशु के विकास के लिए बेहद महत्वपूर्ण होते हैं। तो आज आपको बबताने वाले है प्रेग्नेंसी के दौरान किन चीजों का सेवन करना जरूरी हो जाता है और किन चीजों को परहेज करना चाहिए

1. डाइट में लें ये पोषक तत्व

जब कोई महिला मां बनने वाली हैं, तो उसके लिए आवश्यक है की अपनी डाइट में प्रोटीन, फाइबर, हेल्दी फैट, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, विटामिन सी, डी, आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करें। आपको यदि पता नहीं है की आपको करना पूरे 9 महीने में तो आप किसी न्यूट्रिशनिस्ट से सलाह लें।

2. कैल्शियम है बेहद जरूरी

गर्भावस्था महिला की डाइट में कैल्शियम युक्त डाइट होना चाहिए इसके लिए आप हरी पत्तेदार सब्जियां, दूध, दही, डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करें। प्रेग्नेंसी में कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए फलियां, टोफू, अंजीर का सेवन भी हेल्दी होता है जिसके सेवन से हमें काफी हद तक कैल्शियम मिलता है

3. विटामिन बी12, आयरन के लिए खाएं ये चीजें

गर्भावस्था में आयरन, फोलेट और विटामिन बी12 की कमी शरीर में बिल्कुल भी ना होने दें। इसकी कमी को दूर करने के लिए आप ओट्स, दाल, साबुत अनाज, मछली, नट्स, फलियां, हरी सब्जी, बाजरा आदि खूब खाएं जो की काफी फायदेमंद माना जाती है

4. गर्भावस्था में फाइबर है जरूरी

अक्सर महिलाओं को प्रेग्नेंसी में कब्ज, बदहजमी, पेट में जलन, पेट का फूलना आदि समस्याएं देखने को मिलती है ऐसे में फाइबर से भरपूर फल खाएं। मैदा ना खाएं। फल में अमरूद, बेरीज, सेब, आम, संतरा आदि खाएं। यदि आपको डायबिटीज है, तो डॉक्टर से सलाह लें। नींबू पानी का सेवन भी पेट ख़राब होने पर अच्छा विकल्प मन जाता है

प्रेग्नेंसी में क्या ना खाएं

जितना हो सके आप जंक फूड से दूरी बना लें। मैदा, स्ट्रीट फूड, पिज्जा, बर्गर, प्रोसेस्ड या पैकेज्ड फूड, शराब, स्मोकिंग, अधिक चाय या कॉफी, तेल-मसाले वाली चीजों के अधिक सेवन से परहेज करें। हाई कैलोरी युक्त फूड्स के सेवन से बचें। एक बार में ही अधिक खाने की बजाय कम मात्रा में छोटे-छोटे भोजन करें। इससे आपका पेट भरा हुआ नहीं लगेगा और उल्टी भी नहीं होगी। किसी भी तरह की शारीरिक समस्या होने पर दवाओं का सेवन खुद से ना करें। एक्सरसाइज करें, मगर खुद को थका देने वाले हेवी एक्सरसाइज से बजें। सारा दिन बैठी ना रहें, क्योंकि शरीर को एक्टिव रखना भी जरूरी है। शरीर में ब्लड सर्कुलेशन सही से हनीं होगा तो आपके पैरों, हाथों में सूजन भी हो सकता है।

Note : सबसे जरुरी बात डॉक्टर की सलाह जरूर ले

Credit – Rochak Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here