चाणक्य के अनुसार, ये 3 काम करने वाली महिला होती है चरित्रहीन जरूर जान ले

0
3347

हम सभी आचार्य चाणक्य को महान शिक्षाविद, कूटनीतिज्ञ, के तौर जनाते है चाणक्य ने स्त्री, पुरुष, और बच्चों समेत हर वर्ग के बारे में अपने ग्रंथ में बताया है वही चाणक्य ने नीति शास्त्र में रिश्तों को लेकर कई विशेष बात को भी बताया है हर व्यक्ति यही चाहता है कि उसे एक अच्छी और चरित्रवान पत्नी मिले, लेकिन आज के समय में चरित्रवान लड़की मिलना बहुत मुश्किल होता है, तो चलिये आपको कुछ संकेत बतायेंगे जिससे आप पता लगा सकेंगे कि लड़की चरित्रवान है की नहीं।

पति बढ़ो का सम्मान

ऐसे महिलायें अपने पति का सम्मान नही करती और हमेशा उनसे लड़ती ही रहती है और अपने पति से जुबान तक लड़ाने में नही डरती। छोटी छोटी बातों पर अपने पति से हमेशा लड़ती झगड़ती रहती हैं। सुख में तो मीठा मीठा बोलती हैं लेकिन जैसे ही कोई दुख की घड़ी आती है तो अपना रंग दिखाना शुरू कर देती हैं।अपने ससुराल में रानी के जैसे रहना चाहती हैं और किसी भी काम मे हाथ तक नही बटाती। और अपने सास ससुर को अपने माँ जैसा न प्यार और न आदर सत्कार करती हैं।

आचार्य चाणक्य के अनुसार ऐसी महिलाओं की पहचान सामान्य तौर पर करना तब तक संभव नहीं है जब तक कि उन्हें अच्छे से जान ना लिया जाए। लेकिन भारत के प्रसिद्ध ग्रंथ बृहद संहिता के अनुसार ऐसे कई तरीके हैं जिनसे स्त्री के चेहरे-मोहरे को देखकर ही उसके स्वभाव का पता लगाया जा सकता है। स्त्री के चेहरे और उसके शरीर पर कुछ ऐसे लक्षण होते हैं जो उसे लक्ष्मी का स्वरूप नहीं बल्कि कुलक्ष्मी करार देते हैं।

आचार्य चाणक्य नीति में

आचार्य चाणक्य ने अपनी किताब चाणक्य नीति में चरित्रहीन औरत के बारें में कई ऐसी बाते बताई है। जिन्हें जानकार आप किसी चरित्रहीन स्त्री के प्यार में नहीं पड़ेगे , चाणक्य ने बताया है की स्त्री एक बहुत ही पूजनीय है,

उन्होंने बताया है कि ऐसी महिलाओं को केवल एक पुरुष से प्यार करना नहीं आता, ये महिलायें दिल और जुबां का तालमेल नहीं बनाती, इनके मन में कुछ और चल रहा होता है और जुबान पर कुछ और, ऐसे लोगो को ध्यान से परखना आपकी जिम्मेदारी होती है की कौन कैसा है

निचे वीडियो को आप जरूर देखे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here