चाणक्य नीति : जिस व्यक्ति की पत्नी में होते हैं ये गुण, वे होते हैं भाग्यशाली

0
1549

हम सभी आचार्य चाणक्य को महान शिक्षाविद, कूटनीतिज्ञ, के तौर जनाते है चाणक्य ने स्त्री, पुरुष, और बच्चों समेत हर वर्ग के बारे में अपने ग्रंथ में बताया है वही चाणक्य ने नीति शास्त्र में रिश्तों को लेकर कई विशेष बात को भी बताया है जिसको हम अपने जीवन में अपनाकर खुशहाल और सुखमय जीवन प्राप्त कर सकते है चाणक्य ने स्त्रियों के ऐसे गुणों का वर्णन किया है, जो उन्हें संस्कारी, गुणवती और श्रेष्ठ बनाते हैं। तो आज आपको इसी गुड़ के बारे में बताने पति के लिए कौन से गुड़ वाली पत्नी भाग्यशाली होती है

दयालुता

सबसे पहले चाणक्य बताते है कि स्त्री का दयालु व विनम्र होना बहुत जरूरी है। ऐसे स्त्री हमेशा परिवार को एक जुट रखने के साथ ही दूसरों की भलाई के बारे में सोचती है। ऐसे परिवार में हमेशा सुख-शांति अपने आप आता है और ब्यक्ति के पत्नी में अगर ये गुड़ पाया जाता है तो वह कठिन समय में भी आराम से काट लेगा सुख प्राप्त होता है

धर्मवता नारी

यहाँ चाणक्य ने कहा है जो स्त्री धर्म का पालन करती है वह सही और गलत में अच्छे से भेद कर पाती है। धर्म का पालन करने वाली स्त्री हमेशा अच्छे कर्मों को करती है। ऐसी स्त्रियों की संतान संस्कारी होती हैं। ऐसी स्त्री आने वाली कई पीढ़ियों का कल्याण करती है। धर्म का पालन करने वाली स्त्रियों का समाज में मान-सम्मान होता है। इसके साथ ही वह परिवार की भी प्रतिष्ठा बढ़ाती हैं और सही गलत का आकलन करने में भी निपुड़ मणि जाती है

धन की बचत-

आचार्य चाणक्य बताते है की कि धन व्यक्ति के अच्छे और बुरे दोनों समय में काम आने वाली वास्तु है तो विपरीत परिस्थितियों से निकलने में धन मदद करता है। ऐसे में जिस स्त्री में पैसों का संचय करने की आदत होती है, वह व्यक्ति आसानी से बुरे समय को पार कर लेता है। कभी भी घर में धन की कमी नहीं होने देती है

ये था थे कुछ गुड़ जो आचार्य चाणक्य द्वारा बताये गए है जो की पति के जीवन में स्त्री की बड़ी भूमिका मणि जाती है आप सहमत है इस बात से तो लिखे और शेयर करना न भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here