लखनऊ केस-: वो कारण आया सामने जिसकी वजह से थप्पड़ खाता रहा कैब ड्राईवर

0
705

लखनऊ कांड में मार खाने वाले लड़के का एक दिलचस्प वीडियो सामने आ रहा है जिसमें वह कहती नजर आ रहे हैं कि 22 क्या अगर 25 थप्पड़ भी मारे होते तो भी मैं मार खा लेता लेकिन आखिर मैंने ऐसा क्यों कहा इस पोस्ट में बताते हैं

दरअसल मामला लखनऊ का है आपको पता ही होगा कि गत दिनों लखनऊ में कुछ ऐसी घटना हो गई थी जिसने सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा तहलका मचा दिया था और लोग तमाम तरीके की बातें करने लगे थेहुआ ही था कि प्रियदर्शनी नाम की लड़की रोड क्रॉस करते हुए जा रही थी तभी सामने से एक गाड़ी आती है और ब्रेक लगाती है लेकिन प्रियदर्शनी का कहना यह है की गाड़ी उन्हें धक्का मारने के लिए आ रही थी और इस बात से गुस्सा करके प्रदर्शनी ने क्या ड्राइवर की जमकर पिटाई कर दी जिसकी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई वायरल होने के बाद तरह तरह के बयान लिए गए जिस ने कहा उनकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है उन्हें कई तरीके की बीमारी है और एक बात करती रही कि उन्हें 300 तक मारा गया

और क्या ड्राइवर उन्हें जान से मारना चाहता था पर जब सीसीटीवी की वीडियो सामने आई तो मामला उलट के खड़ा हो गया जिसमें देखा गया कि प्रियदर्शनी कपड़ों की बरसात के ड्राइवर के ऊपर किए जा रही है और क्या ड्राइवर ने कुछ भी नहीं बोल रहा इसी के बाद कई सारे टीवी चैनल सक्रिय हुए कई सारे फेसबुक के पेज ने इन चीजों को शेयर किया और मामला पुलिस तक पहुंच गया जांच में यह पाया गया कि रोड क्रॉस कर रही थी उन्हें देखते ही लगाता है

उसी के बाद से कई सारे न्यूज़ चैनल ड्राइवर का इंटरव्यू लेने पहुंच गए जहां पर उनसे कई सारे सवाल पूछे गए जो इस तरह से पहला सवाल आपने लड़की को क्यों नहीं मारा जिस पर कैप्टन ने जवाब दिया उनके माता-पिता ने उन्हें ऐसी तालीम नहीं दी है कि वह किसी लड़की के ऊपर हाथ उठाय

दूसरे सवाल पूछा गया कि आज तक में इंटरव्यू के दौरान विजयदशमी ने कहा की 22 नहीं मैं 25 थप्पड़ के ड्राइवर को मारती तो उस पर के ड्राइवर ने रिपोर्टर को यह बोला कि अगर वह 22 की जगह 25 थप्पड़ भी मार दी तो भी वह चुपचाप थप्पड़ खा लेते क्योंकि उनके माता-पिता ने उन्हें यह चीजें नहीं सिखाई है उनके घर में उनके भाई हैं पत्नी हैं और बूढ़े मां बाप है जो इस कांड के बाद काफी ज्यादा सदमे में है

इसके बाद कैब ड्राइवर ने यह भी कहा कि अगर उस लड़की की जगह मैं 25 नहीं 22:00 नहीं सिर्फ एक थप्पड़ भी मारा होता तो आज मेरे ऊपर कार्रवाई चल रही होती कई सारी धाराएं लगी होती और साथ में मेरी जिंदगी बर्बाद की जाती है और मैं जेल में सड़ रहा होता लेकिन आज 10 दिन बीत गया है रिपोर्ट भी मैंने लिखवाई सारी फॉर्मेलिटी की गई इसके लिए मैं 10 दिन से काम नहीं कर रहा हूं लेकिन फिर भी अभी तक उस लड़की की गिरफ्तारी नहीं हुई है ऐसा क्यों हो रहा है मुझे इसके बारे में कुछ नहीं पता पर मेरे साथ जो भी हो रहा है वह गलत हो रहा है

रिपोर्टर ने कैब ड्राइवर से यह भी पूछा कि प्रियदर्शनी का कहना है कि आपने पिछले साल से उन्हें कई बार मारने की कोशिश की है जिसकी वजह से वह गुस्से में आ गई और उन्होंने अपना आपा खो दिया और आप को मार दिया लेकिन प्रियदर्शनी ने एक इंटरव्यू जो कि आज तक के द्वारा लिया गया था उसमें कहा कि मैं जिम जाती हूं रेगुलर एक्सरसाइज करती हूं मैं चाहती तो कैब ड्राइवर को और मारती है लेकिन मैंने अपने आप को रोक लिया इस पर कैप ड्राइवर ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा अगर वह मुझे और मारती तो मैं मार खा लेता लेकिन जहां तक बात है पिछले 1 साल से उन्हें मारने का मैंने तूने फर्स्ट टाइम तभी देखा था जब वह आकर के मेरी गाड़ी के सामने खड़ी हुई थी तो इन्हें मारने की बात पूरी तरीके से बेबुनियाद है और जो इन्होंने मेरे ऊपर इल्जाम लगाए हैं उसका कोई भी बुनियाद शामिल नहीं है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here